Breaking News

शाहीन बाग़ की गुमराह नहीं जिहादी महिलाये

शाहीन बाग़ की गुमराह नहीं जिहादी महिलाये 
शाहीनबाग़ में 45 दिन से जारी प्रदर्शन में अब इन प्रदर्शनकारियो का सब्र का बांध टूट रहा है। सविधान बचाने से शुरू हुआ प्रदर्शन अब देश विरोधी नारों में तब्दील होता जा रहा है। 
फोटो क्रेडिट : DTM
CAA , NRC , NPR को लेकर शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन अब धार्मिक रंग लेता जा रहा है। भड़काऊ नारे , हिन्दुओ के खिलाफ घृणा , हिन्दू देवी देवताओ के अश्लील पोस्टर , देश को टुकड़ो में तोड़ने की बातें ,देश की सभी संस्थाओ खासकर सुप्रीम कोर्ट के फैसलों के कारण उसे बिका हुआ घोषित करना , मुस्लिम सुप्रीमेसी के बाते इतियादि। मुसलमानो की PTI जिसका पहले भी कई आतंकी घटनाओ में नाम आ चूका है। वह इन प्रदर्शनो में फंडिंग को लेकर प्रवर्तन निदेशालय के शिकंजे में आ चूका हैं। 

 

जब CAA संसद से पारित तथा राष्ट्रपति द्वारा लागू किया गया था तब इन जिहादी लोगो ने देश भर दंगे करना शुरू कर दिया था। देश भर की सरकारी तथा निजी संपत्ति को बहुत नुकसान पहुँचाया था। परन्तु जैसे ही पुलिस ने इन उपद्रवियों पर कारवाही शुरू की , इनके पिछवाड़े सुजाये गए। इनकी संपत्ति से नुकसान की भरपाई करना शुरू की गयी। इन जिहादियों ने अपनी रणनीति बदली , अब ये लोग खुद को आगे न करके अपनी जिहादी महिलाओ को आगे किया। रणनीति के तहत दिल्ली की ऐसी जगह को चुना गया जो देश के लोगो का ध्यान इस प्रदर्शन पर पहुंचा सके। जो लोग राष्ट्रगीत , राष्ट्रध्वज का आये दिन अपमान करते थे। वे अब न सिर्फ राष्ट्रगीत गए रहे है अपितु ध्वज भी फ़हरा रहे है। ये इन लोगो की सोच  बदलाव नहीं है ये बस दिखावे के लिए , लोगो का ध्यान अपने उन्मादी नारों ,पोस्टरों से भटकाने का एक प्रयास कर रहे है। इन लोगो का साथ मीडिया का एक बड़ा वर्ग जो ऐसी संस्थाओ से फंडित है जिनका नाम देश विरोधी कामों  में आता रहता है। 


No comments

Please do not enter any spam link in the comment box.